18 फरवरी को किसान करेंगे पूरे भारत में रेल रोको आंदोलन

नई दिल्ली – तीन नए कृषि कानून के खिलाफ किसान करेंगे पूरे भारत में रेल रोक आंदोलन, इस को लेकर भारतीय किसान यूनियन ने कहा कि नए कृषि कानून के खिलाफ 18 फरवरी गुरुवार को देश भर में रेल रोकने को आंदोलन चलाया जायेगा। और कहा कि यह आंदोलन दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक किया जाऐगा । और इस बार आंदोलन कि खस बात यह है कि किसी भी राज्य को छूट नहीं दी जोयेगी । जैसे पिछली बार देश में चल रहे ‘चक्का जाम’ आंदोलन में दिल्ली,यूपी और उत्तराखंड को छूट दिया गया था। इस आंदोलन को देखते हुए रेलवे नें 20 स्पेशल कंम्पनियां के फोर्स तैनात की है।

राकेश टिकैत एक न्यूज एजेंसी आईएएनएस से बातचीत के दौरान कहा कि,सरकार करिब 8 माह से बहुत से ट्रेनों को पट्टरी पर दौड़ने का मौका नहीं दे रही है।बल्कि सरकार ने कई तरह कि बंदिशों को हटा दिया । जिससे आम जनता को बहुत परेशानीयों का सामना करना पड़ता है। टिकैट ने कही रेल रोक आंदोलन में गांव वाले भी खुब बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेगें । क्योकि किसान मोर्चा ने पिछले हफ्ते ही आंदोलन करने का ऐलान किया था।

किसान के आंदोलन को मद्धेनजर रखते हुए रेलवे ने अपनी सुरक्षा कि तैयारी पुरी तरह से कर ली है। देशभर में प्रोटेक्शन स्पेशल 20 कंम्पनीयों के फोर्स यानी 20 हजार जवान तैनात किए जायेंगे । सबसे ज्यादा नजर पंजब,हरियाणा,उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल पर रखा जायेगा। रेलवे के प्रोटेक्शन फोर्स डायरेक्टर जनरल अरुण कुमार ने मिडिया एजेंसी पीटीआई से बाचचीत के दौरान कहा कि किसान भाई यात्री को कोई नुकशान ना पहुंचायें और यह 4 घंटे के आंदोलन को शांन्ति से खत्म करें ।

Share This