बलरामपुर- दो हत्यायों से दहला जिला,कातिल पुलिस की गिरफ्त से दूर

बलरामपुर- जिले में हुई दो हत्यायों से इलाके में सनसनी फ़ैल गयी है,वही अभी तक पुलिस कातिलों को पकड़ने में नाकाम रही है स्थानीय लोगो में प्रशासन के खिलाफ रोष.

मामला यूपी के बलरामपुर के थाना पचपेड़वा ग्राम सभा त्रिलोकपुर डुमरी ग्राम सभा का है हत्या करने वाला इतना सातिर है की एक के बाद एक हत्या करता है कातिल और जिला की क्राईम ब्रांच, एस ओजी, सर्विलांस की टीम जिला की प्रशासन लचार,असाहनिय रह जाती है पहला हत्या 18 वर्षीय गौरीशंकर 21 अप्रैल को घर से गायब होता है 22 अप्रैल को गांव की पश्चिम तरफ गन्ने के खेत में लाश मिलता है जिले की आला हुजूम साज बाज के साथ पहुंचते हैं लाश को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज देते हैं और परिवार वालों से हत्यारों को पकड़ने का दावा और दिलासा देते हैं गांव के कई लोगों को पुलिस पकड़ कर थाना पचपेड़वा ले गई पुछताछ के लिए लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा और छोड़ना पड़ा 24 दिन बीत जाने के बाद बलरामपुर के प्रशासन का हाथ खाली और परिवार वालों से झुठी दिलाशा के अलावा कुछ नहीं कर पा रही बेबश लचार पुलिस की खुफिया तंत्र पहला मामला को लेकर प्रशासन के नाक का सवाल बना हुआ था

वही दूसरा मामला सुधीर सिंह की हत्या का है जिसमे वह सुबह गांव के पश्चिम तरफ गन्ने के खेत 500 मीटर की दूरी पर डिब्बे में पानी लेकर शौचालय गए हुए थे अचानक 02 लोग मुंह पर नकाब लगाकर चाकू लेकर हमला सुधीर सिंह पर करने लगते हैं सुधीर सिंह अपनी जान बचाने जहो जिहद करते रहे तभी सुधीर सिंह के शर के उपर प्रट्रोल डाल कर माचिस से आग लगा देते हैं आग की लपटों ने शुधीर सिंह अपने अगोस में लिया आग की लपटे बुझाने का प्रयास अपनी जान बचाने के प्रयास गन्ने के खेत में लेट गए की आग बुझ जाए लेकिन गन्ने की सुखी पत्ती सुधीर सिंह के शरीर की आग गन्ने को भी पकड़ लिया और गन्ने की खेत देखते-देखते जलकर राख हो गया उधर शुधीर सिंह का पुरा शरीर जल रहा था उधर गन्ने की खेत जल रहा शुधीर सिंह का पुरा शरीर जल चुका था अपनी जान बचाने की कोशिश में भागकर आम के बगीचे में पहुंच गए ग्रामीण के लड़के जब देखें तो शुधीर सिंह की बेटी बीबी सब पहुचे गाड़ी से पचपेड़वा सीएचसी लेकर गए वहां से रिफर बलरामपुर कर दिए बलरामपुर लखनऊ के लिए रिफर ट्रामा सेंटर ले जाते समय मृत्यु हो गया कातिल ए शुधीर सिंह के शर्ट का बटन बोतल में भरा पानी जला हुआ कपड़ा सब घटना स्थल पर मिला

Share This